फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत सुर्खियों में बनी हुई है, देश की जनता जोर शोर से सुशांत को न्याय दिलाने कि लिए सोशल मीडिया में जस्टिस फॉर SSR कैंपेन चला रही है| सुशांत को न्याय दिलाने के लिए जहां बहुत सारे नेता और फिल्म इंडस्ट्री के लोग सपोर्ट में आये, तो वहीं बॉलीवुड का एक बहुत बड़ा हिस्सा रिया चक्रबोर्ती के सपोर्ट में खड़ा है|

बॉलीवुड की क्वीन और मशहूर अदाकारा कंगना रानौत सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने के लिए न्यूज़ चैनल्स और सोशल मीडिया में अपनी आवाज मुखर कर रही है और इस मुहीम को आगे बढ़ाने के लिए कंगना ने बड़े पॉलिटिशंस और बॉलीवुड के लोगो के खिलाफ मुखर होकर बोला है|

सुशांत के मौत के बाद जिस तरह से मुंबई पुलिस का बर्ताव रहा है उससे मुंबई पुलिस की भूमिका संदेह के घेरे में है और यही बात कूपर हॉस्पिटल के बारे में भी कहा जा सकता है जहां सुशांत की डेड बॉडी का पोस्टमार्टम हुआ|

महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस के इस रवैये पे कंगना ने सवाल उठाते हुए मुंबई की तुलना POK (पाक अधिकृत कश्मीर) से कर दिया| यही से बात बिगड़ गयी और बॉलीवुड का एक बड़ा तबका कंगना के विरोध में उतर आया. शिव सेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने कंगना को मुंबई आने पर देख लेने की बात कर दी, और कंगना को “हरामखोर” तक कह दिया, कंगना भी कहा पीछे रहने वाली थी तो उन्होंने ने भी कह दिया “9 मई को मै मुंबई आउंगी जिसे जो उखाड़ना हो उखाड़ लेगा.”|

कंगना के उखाड़ लेने वाली बात को शिव सेना दिल पे ले गयी और BMC ने कंगना के पाली हिल, बांद्रा ऑफिस पे अवैध रूप से निर्माण करवाने को लेकर नोटिस जारी करते हुए कंगना के ऑफिस में तोड़ फोड़ कर दिया|

ये मामला अभी खत्म भी ही नहीं हुआ है की संजय राउत ने बॉलीवुड के खिलाडी अक्षय कुमार पर हमला बोलते हुए कहा है कि, जब मुंबई को बदनाम करने को कोशिश की जा रही तो अक्षय कुमार जैसे लोग मुंबई के सपोर्ट में एक शब्द भी नहीं बोल रहे है|वैसे उम्मीद है कि अक्षय कुमार अभी भी कंट्रोवर्सी से बचते हुए इस मामले को तूल नहीं देंगे|

मुद्दे की बात ये है की आज अगर मायानगरी की साख पे दाग लगा है तो ये दाग मुंबई पे किसने लगाया, पूरे देश की जनता जब सुशांत के लिए न्याय की मांग कर रही थी तब मुंबई पुलिस ने मामले को दबाने की पूरी कोशिश की और मामले को एक तरफ़ा आत्महत्या करार दिया| सुशांत के परिवार ने बिहार में FIR रिपोर्ट फाइल करवाया तो बिहार पुलिस को सहयोग करने की बजाय बिहार पुलिस के आईपीएस रैंक अफसर को क्वारंटाइन कर दिया गया और जब बिहार सरकार ने CBI फॉर SSR की डिमांड की तो महाराष्ट्र सरकार सीबीआई जांच रुकवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुँच गयी|

सुप्रीम कोर्ट ने बिहार पुलिस की FIR को सही बताते हुए केस CBI को दे दिया|और जब से केस सीबीआई के पास आया तब से इस केस में एक से बढ़ कर एक खुलासे हो रहे है| बॉलीवुड में ड्रग के एक बहुत बड़े जाल की परतें भी खुली और अब सुशांत के डिप्रेशन का मामला भी ख़ारिज हो रहा है| यहाँ ये बात साफ़ दिख रही है की महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस ने मिलकर मुंबई पे ऊँगली उठाने का पूरा मौका दिया, और अब जब पानी सर से ऊपर निकल गया है तो शिव सेना नेता मुंबई की इज्जत को न बचने के लिए अक्षय कुमार और कंगना रानावत को दोष दे रहे है|

हम उम्मीद करते है की सुशांत के मौत के राज से पर्दा बहुत जल्द उठेगा और सच्चाई सबके सामने आएगी.

🙏सत्यमेव जयते🙏

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here